ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब
अमित शाह ने बनाया प्लान हटा कर रहेंगे 370
June 29, 2019 • Gulshan Verma

जम्मू कश्मीर को लेकर यूँ तो बहुत से मुद्दे है जिनपर बहस होनी चाहिए लेकिन , कोई भी मुद्दा ऐसा नहीं है जिस मुद्दे पर बात की जाये और जम्मू कश्मीर से ज़्यादा बाकि राज्यों की जनता को लुभाया जा सके। लेकिन ऐसा एक मुद्दा है जिसका नाम है धारा 370 ये वो धारा है जिसे हटाने के नाम पर दो बार और कोई भी सरकार लोकसभा चुनाव में जीत हासिल कर सकती है।

धारा 370 पर अकसर बहस जारी रहती है , कुछ लोग कहते है की ये स्थाई है और कुछ का कहना है की ये अस्थाई यानि टेम्परेरी है इसे जब चाहे हटाया जा सकता है , लेकिन सोचने वाली बात ये है की अगर ये टेम्परेरी है तो इसे हटाया क्यों नहीं जा रहा है।

जैसा की हम सभी जानते है की अगस्त 15 1947 के भारत को सवतंत्रता मिली थी पकिस्तान भी एक अलग मुल्क कुछ राज्य भारत में मिल गए थे कुछ पकिस्तान में लेकिन  जम्मू कश्मीर के तत्कालीन राजा हरी सिंह ने किसी में देश में शामिल न होने का फैसला लिया था और इंस्टूमेंट ऑफ़ अक्सेशन पर हस्ताक्षर नहीं किये थे ।

 

उसी वकत पाकिस्तानी सेना ने कश्मीर पर हमला बोल दिया जिसके बाद हरी सिंह ने शेख अब्दुला के साथ मिल कर टेम्परेरी  यानी अस्थाई तौर पर भारत में शामिल होने के लिए इंस्टूमेंट ऑफ़ अक्सेशन पर हस्ताक्षर कर दिए थे।

वहीँ इस समझौते के मुताबिक भारत की केंद्र सरकार रक्षा , दूरसंचार, और विदेशी मामलों के आलावा अगर कोई भी सुधार कश्मीर में करना चाहती है तो उसे जम्मूकश्मीर की राज्य सरकार से अनुमति लेनी होगी।

गौकरतलब है की धारा 370 की वजह से जम्मू कश्मीर का अपना खुद का संविधान है, भारत के संविधान की यहाँ कोई वैल्यू नहीं मानी जाती, कश्मीर का अपना एक अलग झंडा है आप वहां छह कर भी ज़मीं नहीं खरीद सकते, सभी कश्मिरिओं के पास दो तरह की नागरिकता है वो भारतीय भी है और कश्मीरी भी , लेकिन अगर कोई लड़की किसी अन्य राज्य के लड़के से शादी करती है तो वो कश्मीरी नागरिकता खो देती है। लेकिन सबसे ज़्यादा जो चीज़ एक भारतीय को परेशान करती है वो ये है की अगर कोई लड़की पाकिस्तानी युवक से शादी करती है तो उसकी कश्मीरी नागरिकता पर कोई असर नहीं पड़ता उलटा वो पाकिस्तानी युवक भी कश्मीरी हो जाता है वहां संपत्ति खरीद सकता है रह सकता है।

औअर तो और अगर कश्मीर में  कोई हमरे राष्ट्रगण राष्ट्र ध्वज या किसी और तरह का देश द्रोह करता है तो ये वहां अपराध नहीं माना जाता।

खैर गृह मंत्री अमित शाह का कहना है की 2020 तक हम इस धारा को कश्मीर से हटाने की पूरी कोशिश करेंगे , NDA सरकार पूरी योजना तैयार कर चुकी है और जिस तरह से लोकसभा के पहले ही मानसून सत्र में अमित शाह ने आर्टिकल 370 पर ज़ोरदार भाषण दिया है उससे ये साफ़ हो जाता है की केंद्र सरकार जल्द ही कुछ ऐसा करने वाली है जिससे 370 नाम की इस बिमारी को देश के संविधान से हमेशा हमेशा के लिए  मिटाया जा सके।