ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब News Sidnaaz
आखिर कहा गायब हो गया है मोमबत्ती गैंग!
June 8, 2019 • रजत राज गुप्ता

 

अलीगढ।इंसानियत फिर एक बार हुई शर्मसार 2 जून को उत्तर प्रदेश के अलीगढ में फिर एक बार नन्ही सी जान के साथ कुछ ऐसा हुआ जिसको सुन कर हर किसी की नजरे झुक गयी है ढ़ाई साल की परी जिसने अभी ढ़ंग से चलना भी नहीं सीखा था उसको दुनिया से अलविदा कहना पड़ गया।

ट्विंकल शर्मा उत्तर प्रदेश के अलीगढ में स्थित एक गावँ टप्पल की है जहाँ दो पड़ोसियों ने मिल कर कुछ पैसो की वजह से नन्ही सी जान की इतनी बेरहमि से हत्या कर दी। यह बात 30 मार्च की है जब शाम को परी गायब हो गई थी। घर वालो के आस पास हर जगह ढूंढ़ने के बाद भी ट्विंकल शर्मा नहीं मिली तो उन्होंने एफ.आई.आर दर्ज़ करवा दी। फिर 2 जून  को ज़ाहिद के घर के पास कूड़े में उसका शव मिला। जब उसका शव  मिला तो उसको दो कुत्ते खींच रहे थे। जब उन कुत्तों से शव को छुड़ाया तो देखा की उसके शरीर में कीड़े पड चुके थे और उसका दायां हाथ धड़ से खींच कर अलग किया हुआ था। जब यह खबर पुलिस को बताई गयी तो पुलिस ने इस बात को  ज्यादा गंभीरता से न लेते हुए उसके ऊपर कोई भी ढ़ंग  का  केस  नहीं बनाया  जिसकी  वजह  से  इस  बात  का  इतने  दिनों  बाद  खुलासा  हुआ। एसएसपी का कहना है की बच्ची के शव की बरामदगी के बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के सार्थक प्रयास नहीं किया। इन सब ढिलाई की वजह से निवर्तमान प्रभारी प्रशिक्षण कुशपाल सिंह,दरोगा सत्यवीर सिंह,,अरविन्द कुमार,शमीम अहमद,और राहुल यादव को तुरंत ही निलंबित कर दिया।

जब पुलिस  ने  आरोपी  जाहिद  और  असलम   को  पकड़ा  तो   उसने  बताया   की  नन्ही  सी  जान  को  सिर्फ  चंद  पैसो  की  वजह  से  मारा  जिसका मूल्य केवल  5000 रुपये थे । उन्होंने  बताया  की  परी  का  अपहरण  करने  के  लिए  चॉक्लेट  का  इस्तेमाल  किया  और  उसके  बाद  कितनी  बेहरमी  से  मारा  था । हम  आपको  बता  दे  की  परी  को  इतना  बुरी  तरह  से  मारा  था  की  उसकी  सारी  पसलियां  टूट  गयी  थी  और  उसके  बाद  उसके  दाएं  हाथ  को भी  धड़  से  खींच  कर  अलग  कर दिया  था ।उसके  बाद  असलम  ने  उसे  अपने  घर  में  1 दिन  तक  छुपा  कर  रखा  था । जब  परी  का  शव  सड़ने  लगा  तो   उससे  अपने  घर  के  पास  वाले  कूड़े के धेर में  फ़ेंक  दिया ।

परी  की  पोस्टमॉर्टेम  की  रिपोर्ट्स  आ  गयी  है और  उसमे  बहुत सी  चौकाने   वाली  खबरे  आयी  है । पोस्टमॉर्टेम में तीन  डॉक्टर  के  पैनल  ने  किया  था  जिसमे  डॉ  नवीन  कुमार ,डॉ  के के  शर्मा  और  डॉ  उज्वला  शामिल  थी । इस  रिपोर्ट  में  सबसे  चौकानी  वाली  बात  यह  थी   की परी  के  किडनी  और  यूरिनरी  ब्लैडर  नई  था । बच्ची  का  सीधा  हाथ  धड़   से  अलग  था   जिसकी  वजह  से  उसके  शरीर  me जगह  जगह   कीड़े  पड़  चुके  थे ।इसके  बाद  दूसरी  सबसे  बड़ी  खबर  यह  है  की  परी  की  मौत  मार  पीट  से  नहीं  हुई  बल्कि  सदमे  से  हुई  है । पोस्टमॉर्टेम  की  रिपोर्ट  में  मौत  का  रीज़न  शॉक  डीयू टू     एंटी  मोर्टेम  इंजरी  लिखा  है  जिसका  मतलब  यह   है  की  जब  परी  की  मौत  हुई  तो उस  समय  उससे  किसी  बात  का  सदमा  लगा था जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। पोस्टमॉर्टेम में मासूम परी के रपे की पुष्टि  नहीं हुई क्यूंकि शव का इतना बुरा हाल था की जिसके चलते पोस्टमॉर्टेम में उसके रेप के होने के पक्के सबूत नही मिले हैं।बच्ची के पैर, औऱ नेसल ब्रिज में फ्रैक्चर बताया गया है जो की उसको मरने पीटने की वजह से हुआ है।

इस हत्याकांड में पकडे  गए आरोपी असलम और ज़ाहिद है जिनमे से असलम के ऊपर पहले भी कई मामले दर्ज है जिनमे अपहरण,गुणडाकाण्ड और अपनी बेटी के साथ ही दुष्कर्म करना भी शामिल है।टप्पल ठाणे में भी असलम  के ऊपर अपनी बेटी के साथ दुष्कर्म करने,तथा एक बच्चे का अपहरण करने का भी केस दर्ज है।असलम काफी शातिर अपराधी है। इसके ऊपर दिल्ली में गोकुल पूरी थाणे में भी एक दर्ज मामला है जिसमे इसने उसी छेत्र के एक बच्चे को अगवा किया था और जो बाद में असलम के पास बरामद हुआ था।  परी की इस निर्मम हत्या के चलते पुलिस ने इस मामले को फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में भजने के लिए रासुका राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाया है ताकि इसका फैसला जल्द-जल्द से आये।

लेकिन यह समझ नहीं आ रहा है की जब आसिफा के साथ ऐसा हुआ था तो इतने कैंडल मार्च निकले गए थे लेकिन अब यह कैंडल मार्च वाले लोग कहा है क्यों नहीं आ रहे है,अब यह नजर,क्या इसलिए क्यों की आसिफा का धरम दूसरा था और परी का दूसरा, या फिर इसलिए क्यों की आसिफा के केस का जैसे कुछ नहीं हुआ वैसे ही परी का भी नहीं होगा।