आरती की ज़िन्दगी से जुडी हैरान कर देने वाली बाते|
October 9, 2019 • अपूर्वा गोस्वामी

बिग बॉस को लेकर एक बहुत बड़ी खबर सामने आई हैं। जहाँ एक तरफ बिग बॉस बंद करवाने की मांग चल रही हैं तो वही दूसरी तरफ बिग बॉस में आई एक कंटेस्टंट को लेकर बहुत सारे खुलासे भी हुए हैं। ये कंटेस्टंट और कोई नहीं बल्कि जानेमाने एक्टर गोविंदा की भांजी और कॉमेडियन कृष्णा की बहन हैं। जी हाँ हम आरती सिंह की ही बात कर रहे हैं। आपको बता दे आरती सिंह ने खुद अपनी लाइफ से जुड़े कई खुलासे शहनाज़ से शेयर किये हैं।

बिग बॉस 13 में हर कंटेस्टंट एक सेलेब्रिटीस से लेकर न्यूज़ एंकर तक हैं लेकिन फर्क बस इतना हैं की कोई ज्यादा फेमस हैं तो कोई उसके घरवालों की वजह से पहचाना जाता हैं। इन्ही में से एक हैं आरती सिंह जी हाँ एक्टर गोविन्द की भांजी और कॉमेडियन कृष्णा की बहन। हर कोई उनको ऐसी ही जानता हैं जो आरती को बिलकुल पसंद नहीं हैं। सिर्फ इसी वजह से टीवी एक्टर आरती सिंह ने बिग बॉस में अपने कदम रखे हैं जिससे वह बिग बॉस से दुनिया भर में अपनी एक पहचान बना ले, उसको न तो कोई एक्टर गोविन्द की भांजी की वजह से जाने और न ही कॉमेडियन कृष्णा की वजह से बल्कि उसकी खुद की वजह से पहचाने।

इसी के चलते आरती ने शहनाज़ से अपनी लाइफ से जुड़े और भी कई खुलासे किये हैं। आरती ने बताया कि "मैंने अपनी पूरी लाइफ बिना पिता के गुज़ारी हैं और इतना ही नहीं मेरे होने के बाद ही कैंसर की वजह से मेरी माँ की मृत्यु हो गई थी।" माँ के जाने का दर्द बस वही समझ सकता हैं जिसकी माँ उसको हमेशा के लिए छोड़ कर चली गई हो। जब आरती 5 साल की थी तब वो लखनऊ चली गई थी। लखनऊ में आरती को उसकी माँ की बेस्ट फ्रेंड ने अपने बच्चे की तरह पाला था और वो सिर्फ माँ की एक अच्छी दोस्त नहीं बल्कि रिश्ते में उनकी भाभी भी लगती थी।

आरती किसी से ज्यादा प्यार नहीं करती क्यूंकि आरती का मानना हैं जिससे वह ज्यादा प्यार करती हैं वह इंसान उसको छोड़ कर चला जाता हैं। आरती का किसी से इतना अटैच न होने का यही कारण हैं। वह बस भगवन से यही दुआ करती हैं कि वह जिससे भी प्यार करे वो इंसान उसको कभी छोड़ कर न जाये।

बहुत सारे टीवी शो करने के बाद भी आरती को कोई नहीं पहचान पाया न ही आरती फेमस हो पाई| आरती ने उड़ान, देवो के देव महादेव, वारिस, उतरन जैसे टीवी शो में काम किया हैं| लेकिन टीवी शो वारिस में काम करने के 2 साल बाद तक आरती को कोई काम नहीं मिला जिस वजह से वो डिप्रेशन में चली गई थी| 

आरती ने अपनी लाइफ एक लड़की होने के बावजूद भी एक मर्द की तरह गुज़ारी हैं। अपनी ज़िन्दगी में आरती खुद एक मर्द बनी और उसने हर मुश्किल का सामना करने का साहस एक मर्द की तरह अपने अंदर कामियाब रखा। आरती शहनाज़ को कहती हैं कि "इस मर्द को बस अपनों के खोने का डर काफी ज्यादा हैं बस भगवन मेरी भाई कृष्णा को मेरे से न छीन ले वरना मैं तो जीते जी मर जाउंगी"।