ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब
खुद को बचाने के लिए आजम खान ने लिया इस्लाम का सहारा 
July 20, 2019 • Rajat Raj Gupta

नई दिल्ली. जब से योगी सरकार यूपी में आई है तब से ही योगी आदित्यनाथ ने भू-माफियाके ऊपर कड़े कदम उठाने को कहा था जिसके बाद कोई भी आदमी ज़मीनो पर अवैध तरीके से कब्ज़ा नही कर सकता. इसी के तेहत सपा के एक नेता, योगी की इस मुहीम की चपेट में आ गये है जिसकी वजह से उन्हें कल भू-माफिया की लिस्ट में उनका नाम भी शामिल कर दिया गया.

कल सपा के दिग्गज नेता आज़म खान को रामपुर में भू-माफिया घोषित कर दिया गया और उनका नाम भू-माफिया के पोर्टल पर डाल दिया गया. रामपुर के जोहर यूनिवर्सिटी के लिए किसानों की ज़मीन हथियाने के आरोप में उन पर अभी तक 13 केस दर्ज हुए है जिसकी वजह से वहां के प्रशासन ने आज़म खान को भू-माफिया घोषित कर दिया है. राम पूर के जिला अधिकारी आन्जनये कुमार सिंह ने बताया की किसी को भी भू-माफिया घोषित करने की एक प्रक्रिया है जिसमे उन लोगों को शामिल किया जाता है जो दबंगई से जमीन पर कब्ज़ा कर लेते है, अवैध तरह से कब्जाई हुई जमीन को छोड़ते नहीं है और जिनके खिलाफ पुलिस में इनमे से किसी भी मामले के खिलाफ केस दर्ज हो. इनमे से अगर एक भी चीज किसी शख्स के उपर लागू होती है तो उसका नाम यूपी के एंटी भू-माफिया पोर्टल पर दर्ज कर दिया जाता है.

हम आपको बता दे की अभी तक आज़म खान के उपर 13 मामले दर्ज हो चुके है जिसमे से एक मुकदमा 12 जुलाई को प्रशासन की तरफ से आलिया गंद के 26 किसानों की जमीन पर कब्ज़ा करने के आरोप में दर्ज करवाया गया है. इस मामले के बाद आज़म खान ने कहा की यह सारा मामले झूटा है. यह जमीन मैंने 8 साल पहले खरीदी थी और इसकी सारी पेमेंट मैंने चेक से की थी. इस पर कोई केस ही नही बनता. लेकिन अब आज़म खान ने तबरेज अंसारी मामले पर हिन्दू मुस्लिम की राजनीती चालू कर दी. जितने भी मुसलमान भारत में रह रहे है उन सब के पूर्वजों ने एक बहुत बड़ी गलती की है जिसकी सजा अब हमें भुगतनी पढ़ रही है. अगर हमारे पूर्वज 1947 में पाकिस्तान चले जाते  तो हमें आज ऐसी सज़ा नही भुगतते. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा की, 1947 में मुसलमान पाकिस्तान क्यों नहीं गए? ये मोलाना आजाद, पंडित जवाहर लाल नेहरू और सरदार पटेल से पूछिए क्योंकि इन लोगों ने मुसलमानों से वादे किए थे. साथ ही उन्होंने ने कहा कि बापू (राष्ट्रपिता महात्मा गांधी) की अपील पर मुसलमान पाकिस्तान नहीं गए थे. बापू ने मुसलमानों से कहा था कि ये देश तुम्हारा है, अगर बंटवारा बाकी के मुसलमान भी चाहते तो देश की ये शक्ल नहीं होती. 

दरअसल आज़म खान अपने आप को भू-माफिया वाले मामले से बचाने के लिए अपने धर्म का सहारा ले रहे है. उनको लगता है की उनके मुसलमान होने की वजह से वो इस मामले को अपने उपर हिन्दुओं द्वारा एक मुस्लमान पर हमला और झूठा केस बनाने जैसी बातों से भारत में रह रहे मुसलमानों को भडकायेंगे और इस मामले को हिन्दू मुस्लिम की राजनीती में झोंक कर अपने उपर से भू-माफिया के ठप्पे को हटवा लेंगे. आज़म खान फिर से धर्म की आग हिन्दू-मुस्लिमों को झोंक कर अपना काम निकलवाना चाहता है.