ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब
छेड़छाड़ के बाद लड़की के पिता की हत्या करने वाला मस्जिद में शरण लेने पहुंचा
May 15, 2019 • Gulshan Verma

छेड़छाड़ के बाद लड़की के पिता की हत्या करने वाला मस्जिद में शरण लेने पहुंचा

नई दिल्ली। दिल्ली के मोती नगर थाना एरिया के बसई दारापुर गांव में छेड़छाड़ का विरोध करने पर एमएनसी में जॉब करनेवाली 26 साल की जिस लड़की के पिता की हत्या की गई, उस केस में अब नया खुलासा हुआ है , सूत्रों की माने तो लड़की और उसके पिता को 11 लोगों ने घेरकर मारा था। इनमें 4 महिलाएं भी शामिल थीं। पीड़ित परिवार ने बताया है कि हत्या के लिए बड़ा चाकू गिरफ्तार हुए तीन आरोपियों की मां लेकर आई थी। वहीँ इस वारदात को अंजाम देने वाले चारो आरोपियों को पुलिस द्वारा पकड़ लिया गया है। इनमें से एक पिता और उसके तीन बेटे हैं। दो नाबालिग हैं, बाकी 7 आरोपी घर से फरार बताये जा रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी पीड़ित का पडोसी है और मुख्य आरोपी का नाम शम्से आलम , गौरतलब है कि शनिवार देर रात को बसईदारापुर में रहने वाली युवती को उसके पिता व भाई डॉक्टर से जाँच करवा कर घर लौट रहे थे। जैसे ही वे घर के पास पहुंचे, पड़ोस में रहने वाले कुछ लड़कों ने युवती के साथ छेड़खानी शुरू कर दी और इन युवकों में ,शम्से आलम भी शामिल था । वहीँ छेड़खानी करने पर युवती के पिता व भाई ने युवकों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। आरोपितों ने उन पर पत्थर व चाकू से हमला कर दिया। हमले में युवती के पिता व भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया, जहां युवती के पिता को मृत घोषित कर दिया गया। वहीं भाई की हालत गंभीर बनी हुई है वो आई सी यू में भर्ती है।


वही इस घटना का मुख्य आरोपी शम्से आलम इस वारदात को अंजाम देने के बाद सबसे पहले मस्जिद में शरण लेने पहुंचा था और फिर वहां से मोती नगर थाने गया था । इलाके के लोगों ने बताया कि मस्जिद में जाकर उसने मदद की गुहार लगाई थी , लेकिन वहां मौजूद लोगों ने मदद करने से साफ़ मना कर दिया और शम्से आलम से सरेंडर करने को कहा । तब पुलिस को पता लगा कि आरोपी कत्ल करके वहां आया है। कहा जाता है कि आरोपी नशे में थे। मामले में स्थानीय लोग एकजुट होकर गुरुवार को पंचायत करने की बात कह रहे हैं। इस तरह का फैसला लेने की बात बताई जा रही है कि गांव में मुस्लिम परिवारों को कोई भी किराए पर घर नहीं देगा। हालांकि, पीड़ित परिवार की ओर से कहा गया है कि वह इलाके में शांति ही चाहते हैं। लेकिन माहौल अभी भी गंभीर बना हुआ है क्यूंकि पीड़ित परिवार का एक सदस्य अपनी जान से हाथ धो बैठा है और दूसरा जो की लड़की का भाई है आई सी यू में भर्ती है।