ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब News Sidnaaz
    जानिए अगले महीने तक के व्रत-त्योहार
June 21, 2019 • अपूर्वा गोस्वामी

 

 

हिंदी पंचांग की अगर माने तो मंगलवार यानि आज 18 जून से लेकर 18 जुलाई को खत्म होगा| जैसा की आप जानते है कि  आषाढ़ का महीना बहुत पवित्र माना जाता है| हिन्दू पंचांग में सभी महीनो के नाम नक्षत्रो के नाम पर आधारित है| आषाढ़ महीने का नाम भी पूर्वाषाढ़ा और उत्तराषाढ़ा नक्षत्रो के अनुसार रखा गया है| जी हा आपको इस बात की भी जानकारी देते हुए चलते है कि इस महीने में देवशयनी एकादशी होगी और साथ-ही-साथ इस महीने ग्रहण भी लगेगा|

आये अब हम आपको बताते है इस महीने के व्रत-त्योहार

गणेश चतुर्थी- 20 जुलाई
गणेश चतुर्थी का व्रत भगवान गणेश जी के लिए रखा जाता है।

योगिनी एकादशी- 28 जुलाई
आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को योगिनी एकादशी कहा जाता हैं। इस एकादशी पर भगवान विष्णु के लिए व्रत रखा जाता है।

अमावस्या- 2 जुलाई, खग्रास सूर्य ग्रहण
आषाढ़ अमावस्या – 2 जुलाई को आषाढ़ मास की अमावस्या बताई जा रही है। इस तिथि बहुत ही पवित्र मानी जाता है। अमावस्या के दिन हम लोग स्नान, दान-पुण्य, पितृ कर्म करने पर पुण्य फल की प्राप्ति होती है। इस दिन को बहुत ही सौभाग्यशाली माना जाता है। इस अमावस्या पर कालसर्प दोष एवं शनि संबंधी दोषों के निवारण किये जा सकते हैं।

विनायकी चतुर्थी- 6 जुलाई
यह व्रत भगवान गणेश जी के लिए रखा जाता है|

देवशयनी एकादशी- 12 जुलाई

साल में इतनी एकादशी होने के बाद भी देवशयनी एकादशी बहुत ही खास एकादशी होती है। इस एकादशी पर सभी मांगलिक कार्यक्रमों पर विराम लग जाता है। दरअसल भगवान विष्णु इस दिन से चार महीनों के लिए विश्राम करने क्षीर सागर में चले जाते हैं और देवउठनी एकादशी को ही जागते हैं। आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी देवशयनी एकादशी कही जाती है। देवशयनी एकदशी 12  जुलाई 2019 है।

गुरु पूर्णिमा, खंडग्रास चंद्रग्रहण- 16 जुलाई
आषाढ़ पूर्णिमा का दिन बहुत ही खास होता है। इसके अलावा इस दिन को गुरु पूर्णिमा, व्यास पूर्णिमा आदि के रूप में भी मनाया जाता है। जिसमें गुरू की पूजा की जाती है।