ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब News Sidnaaz
भारत के 15वें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 बार शपथ ग्रहण क्यों की?
May 31, 2019 • रजत राज गुप्ता

भारत के 15वें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 बार शपथ ग्रहण क्यों की?

नई दिल्ली। कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के 15 वे प्रधानमंत्री की शपथ ग्रहण की और उनके साथ 57 मंत्रिओं ने भी शपथ ली। जैसा कि आपने ऊपर पढ़ा की प्रधानमंत्री ने दो बार शपथ ली तो हम आपको बता दे की हर प्रधानमंत्री दो बार शपथ लेता है। चलिए जानते है की हर प्रधानमंत्री दो बार शपथ क्यों लेता है?

जैसा की आप सब जानते है की अगर हम किसी भी अच्छे सरकारी पद पे जाते है तो हमें शपथ लेनी होती है। वैसे ही जब कोई भी प्रधानमंत्री के पद लिए चुना जाता है तो उसे देश के राष्ट्रपति के पीछे पीछे बोल कर शपथ लेनी होती है पर एक बार नहीं दो बार। जो पहली शपथ होती है उसमें प्रधानमंत्री ईश्वर के नाम पर शपथ लेता है की वो पूरी तरह से इस बात की पुष्टि करते है  कि वो भारत के संविधान के प्रति सच्चा विश्वास और निष्ठा धारण करेंगे, भारत की संप्रभुता और अखंडता को बनाए रेखेंगे, वो ईमानदारी से और संघ के लिए प्रधान मंत्री के रूप में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे और वो बिना किसी भय या पक्ष या स्नेह के संविधान और कानून के अनुसार सभी प्रकार के लोगों के अधिकार की रक्षा करेंगे।

इस शपथ को लेने के बाद प्रधानमंत्री को एक और शपथ लेनी पड़ती है। और वो होती है गोपनीयता की शपथ, यह शपथ देश की सुरक्षा से जुडी होती है जिसमे प्रधानमंत्री को ईश्वर के नाम पर पूरी तरह से यह शपथ लेनी होती है कि वो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से किसी भी व्यक्ति या व्यक्तियों से किसी भी तरह की देश की जानकारी को शेयर नही करेगा. और किसी से संपर्क कर नहीं बताएगा, जो भी विचार उसके अधिकारों के तहत लाए जाएंगे। ऐसे मंत्री के रूप में मेरे कर्तव्यों के उचित निर्वहन के लिए संघ को छोड़कर मेरे लिए कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं है। कल भी ऐसा ही हुआ था पहले नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री की शपथ ली और फिर गोपनीयता की शपथ ली थी।