ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब
मुख्यमंत्री ने 200 सीवर सफाई मशीनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया 
March 1, 2019 • Gulshan Verma

 

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री,  अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की संकरी गलियों में सीवर की सफाई को सुनिश्चित करने के लिए 200 सीवर सफाई मशीन वाहनों के एक बेड़े को झंडी दिखाकर रवाना किया और इसी के साथ सफाई कर्मचारियों के सीवर में उतरने के अमानवीय कार्य से मुक्ति का घोषणा की। मुख्यमंत्री ने दिल्ली जल बोर्ड द्वारा डॉ अंबेडकर स्टेडियम आयोजित एक समारोह में अनुभवी और कुशल सफाई कर्मचारियों को सीवर साफ करने के लिए ये 200 सीवर सफाई मशीनें प्रदान कर सफाई उद्यमी बना दिया।

मंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली देश का पहला राज्य है जहां सीवर सफाई मशीनों को लॉन्च किया गया है। श्री केजरीवाल ने कहा कि उन्हें इस बात का गर्व है कि दिल्ली सरकार ने सीवर में घुसकर, जान जोखिम में डालकर सफाई करने वाले सफाई कर्मचारियों को इस अमानवीय कार्य से मुक्ति का मार्ग प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने इस बात की पहल की कि मानव जीवन की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जाए और उन्हें सम्मान से कार्य करने जीवन जीने का वातावरण दिया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन दिल्ली के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। क्योंकि बातें तो की जाती है लेकिन योजनाओं को कार्यान्वित नहीं किया जाता। दिल्ली सरकार ने इस विषय में गहराई से विचार किया, ठोस नीति बनाई और हमने इसे आज से दिल्ली में कार्यान्वित कर दिया। उन्होंने कहा कि जहां हमने इस प्रकार के सीवर सफाई के आधुनिक और नवीन उपकरणों को विकसित कर इनलोगों को दिया है अब उन्हें जान की जोखिम उठाने से बचाया जा सकेगा और मशीन के द्वारा तंग गलियों में सीवर सफाई के काम को सुनिश्चित किया जा सकेगा।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने विशाल सभा को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार अनुसूचित जातियों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति में तेजी से सुधार लाने और उन्हें राष्ट्र के विकास की मुख्य धारा में लाने के लिए निरंतर प्रयासरत है।

 मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि बाबा साहेब डाॅ अम्बेडकर का मानना था कि अनुसूचित जातियों के लोगों को जबतक सामाजिक, शैक्षिक और आर्थिक रूप से मजबूत नहीं किया जाएगा तबतक इनका उद्धार और विकास संभव नहीं है। केजरीवाल ने कहा कि बाबा साहेब के इस सपने को साकार करने की दिशा में हमारी सरकार तत्पर है। आज सफाई कर्मियों को 200 सीवर सफाई मशीन देकर सरकार ने उन्हें सफाई उद्यमी बनाया है। इससे उनको सम्मान भी मिलेगा और साथ ही साथ जान जोखिम में डालकर सीवर सफाई करने के कार्य से भी मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड और दलित चैंबर आॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज और भारतीय स्टेट बैंक ने दिल्ली सरकार के इस पुनीत कार्य में अपना सहयोग प्रदान कर बड़ी भूमिका निभाई है। इस तरह सरकार ने उन्हें स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिए रोजगार उपलब्ध कराया है। अब उन्हें अपने स्वयं के कौशल के उद्यमी भी कहा जाएगा और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार के साथ साथ उनको सम्मान भी मिलेगा।

अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन जाति कल्याण मंत्री, राजेन्द्र पाल गौतम ने कहा कि दिल्ली सरकार अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के उत्थान के लिए बेहतर और प्रभावी तरीके से काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार एससी और एसटी के कल्याण के लिए कई योजनाएं तैयार कर रही है जिनका लाभ इन वर्गों के सभी लोगों तक जल्द हीं पहुंचाया जाएगा।

दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने कहा कि दिल्ली का स्वरूप एक गुलदस्ते की तरह है जिसमें भिन्न भिन्न प्रकार के फूल सुशोभित हैं। इसी प्रकार दिल्ली में सभी धर्मों व जाति के लोग अपनी विशिष्टताओं के साथ मिलजुलकर रहते हैं। आज का दिन गौरवशाली दिन है क्योंकि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े सफाई कर्मी को सम्मान दिया जा रहा है और उसे एपलाईड टेक्नोलाॅजी का लाभ देकर उद्यमी बनाया जा रहा है इससे उसका सामाजिक और आर्थिक स्तर दोनों में ही सुधार होगा।

दिल्ली जल बोर्ड के सीईओ, अनिल कुमार सिंह ने कहा कि अब लघु सीवेज सफाई मशीन वाहनों की शुरुआत के साथ, दिल्ली जल बोर्ड इन मशीनों के माध्यम से दिल्ली की संकरी गलियों में सीवेज की सफाई सुनिश्चित करने में सक्षम हो जाएगा। इन वाहनों में आवश्यक उपकरण हाइड्रोलिक, जेटिंग, ग्रैबिंग और रॉडिंग की सुविधा उपलब्ध है। यह छोटी सफाई मशीन 30 फीट गहरे सीवर की सफाई सुनिश्चित कर सकती है और सीवरेज को साफ कर ट्रॉली में गाद, स्लग और अन्य अपशिष्ट इकट्ठा कर सकती है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड ने अब सफाई कर्मचारियों को सफाई के लिए सीवर में प्रवेश करने की अमानवीय प्रथा को समाप्त कर दिया है।