ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब News Sidnaaz
श्री देवी की मौत की एक और सचाई
July 19, 2019 • Rajat Raj Gupta

नई दिल्ली. आये दिन बड़े बड़े स्टार्स इस दुनिया को छोड़ कर जाते रहते है. इसी तरह अचानक ही श्रीदेवी ने इस दुनिया को  अलविदा कहे दिया. पिछले साल 24 फरवरी को बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस इस दुनिया को छोड़ कर हमेशा हमेशा के लिए चली गयी. श्री देवी के अचानक जाने के बाद 5 दिन तक सस्पेंस बना रहा और लगातर कई हफ़्तों तक मिडिया चैनल्स पर ये बहस होती रही की अचानक श्रीदेवी ऐसे कैसे चली गयी हलाकी यह साबित कर दिया गया की श्रीदेवी का इस दुनिया से जाना नोर्मल था लेकिन यह बिलकुल भी सच नही है. श्री देवी के इस दुनिया से जाना के पीछे जुड़ा है एक बहुत बड़ा रहस्य जो हम आज आपको अपनी इस रिपोर्ट में बताने जा रहे है.

केरल के जेल डीजीपी ऋषिराज सिंह ने श्री देवी के यूँ चले जाने का असली कारण बताया की इनका जाना कोई एक्सीडेंट नही था बल्कि एक सोची समझी साजिश थी जिसे सबने मिल कर एक एक्सीडेंट का रूप दे दिया था। डीजीपी ऋषिराज सिंह ने यह बात उनके करीबी दोस्त और फॉरेसिक एक्सपर्ट डॉ. उमाद की एक रिपोर्ट के पर दावा करते हुए कहा है। डी.जी.पि ऋषिराज ने एक नेवसपपेर के अपने एक लेख में उनकी और उमाद की बातों का उल्लेख दिया की उमाद ने बताया था की वो पुरे मामले को करीब से देख रहे थे। रिसर्च के दौरान उन्हें इस बात की पूरी संभावना नजर आई कि श्रीदेवी का जाना कोई हादसा नहीं बल्कि एक सोची समझी साजिश थी , इस दौरान उन्हें ऐसे कई सबूत मिले हैं । मेरे दोस्त ने बताया कि कोई भी नशे में धुत इंसान किसी भी स्थिति में एक फुट गहरे बाथटब में नहीं डूब सकता। उमाद ने यह दावा किया था कि किसी ने एक्ट्रेस के दोनों पैरों को पकड़ा होगा और सिर को पानी में डुबोया होगा।

इसके बाद हमें एक और हैरान करने वाली बात पता चली की श्री देवी का ओमान में 240 करोड़ का बिमा करवाया गया था जिसमे की अगर श्री देवी को ओमान में किसी भी प्रकार की जान-माल की हानि होती है तो उस बीमा का लाभ उनके परिवार वालों को मिलेगा.

दुबई की पुलिस ने श्री देवी की फॉरेंसिक जांच में बताया था की उन्हें हार्ट अटैक आया था. जब श्रीदेवी का पोस्त्मोर्तेम किया गया तो उसमे बताया गया की श्रीदेवी मौत डूबने की वजह से हुई है. दुबई की पुलिस की एक अच्छी बात है की वोपता लगाने की कोशिश करती है कि मौत से फायदा किसको हो सकता है? उनकी प्रॉपर्टी किसे मिलेगी? मौत के बाद इंश्योरेंस कौन क्लेम करेगा लेकिन श्री देवी के समय ऐसा कुछ नही हुआ था. उन्होंने साफ़ साफ़ इस केस को एक्सीडेंट का नाम दे कर इस केस को रफा-दफा कर दिया.