ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब News Sidnaaz
सी.एम योगी ने बतया पत्रकारों को क्यों कमरे में बंद किया था
July 1, 2019 • Gulshan Verma

उत्तरा प्रदेश की कानून व्यवस्था की हाल तो पुरे देश को पता ही है , साम दाम दंड भेद यानी हर तरह की कोशिश की जा रही है ताकि पत्रकारों की आवाज़ को दबाया जा सके मीडिया को किसी तरह से अपने काबू में किया जाए योगी आदित्य नाथ ऐसी हर कोशिश को अंजाम दे रहे हैं जिससे मीडिया का बोलती को बंद किया जा सके। आपको याद होगा ज़्यादा दिन नहीं हुए हैं जब एक ट्वीट करने की वजह से पत्रकार प्रशांत कनोजिया को जेल में डाल दिया गया और उसके बाद कोर्ट ने योगी सरकार को फटकार लगते हुए पत्रकार को तुरंत रिहा करने के आदेश दिए थे।

वहीँ इसिहास में पहली बार कोई सरकार इस क़दर बेशर्मी पर उत्तर आई है की अब जनता की आवाज़ को दबाने के लिए पत्रकारों को कमरे में बंद करने लगी है। मीडिया में जो खबर सामने आई है उसके मुताबिक सबसे पहले किया हुआ हम आपको बताते हैं । मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ का काफिला मुरादाबाद के सरकारी अस्पताल में सुविधाओं का जायज़ा लेने पहुंचा इस बात की जानकारी पत्रकारों को भी थी , और जहाँ तक बात की जाए इस हॉस्पिटल की तो यहाँ बुरा हाल है न तो मरीज़ों के लिए पर्याप्त दवाइयां थी और न ही पूरी सुविधाएँ ही मौजूद थी ।

लेकिन सरकार तो ये नहीं चाहती थी की ये बात मीडिया में सामने आये इसलिए जब योगी आदित्य नाथ ने
हॉस्पिटल में प्रवेश किया सभी पत्रकारों को एक कमरे में बंद कर दिया गया ताकि हॉस्पिटल के ख़राब हाल पर कोई मुख्यमंत्री से सवाल न पूछे , सूत्रों की माने तो पहले मीडिया के पत्रकारों से झूठ कहा गया की योगी आदित्य नाथ इमरजेंसी वार्ड में हैं जैसे ही पत्रकार वहां पहुंचे मुरादाबाद के DM ने इमरजेंसी वार्ड में सभी पत्रकारों को बंद कर दिया और बहार से ताल लगा दिया , ताकि वो छह कर भी सवाल जवाब न कर सकें ।

इसके बाद जैसे ही योगी आदित्य नाथ हॉस्पिटल से रवाना हुए पत्रकारों को जिस एमरजेंसी रूम में बंद किया था उसका ताला खिल दिया गया और ये कहा गया की बहार आ जाओ। पत्रकारों ने वहां जैम कर हंगामा किया और सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल किया गया उस वीडियो को जिसमे ये साडी घटना कैद हो गई थी।
इस सबके बाद जब मामले ने ज़ोर पकड़ा तो योगी आदित्य नथा से जवाब तालाब किया गया , लेकिन योगी आदित्य नाथ ने कोई भी जवाब देने से साफ़ इंकार कर दिया , कुछ देर बाद मुख्यमंत्री ऑफिस से ये कारण बताया गया की हॉस्पिटल में इन्फेक्शन फैला था , इसलिए पत्रकारों के सवस्थ को देखते हुए उन्हें कमरे में बंद कर दिया गया था। हलफिल हाल इस जवाब का मतलब हमें तो समझ में नहीं आया , इसके बयान के पीछे क्या तर्क हो सकता है अगर आप हमें बताना चाहे तो कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं।