ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब
दिल्ली के आंबेडकर हॉस्पिटल में एक बेड पर चार-चार मरीज़ नर्सिंग स्टाफ़ नदारद मरीजों का बुरा हाल
July 19, 2020 • अर्पण न्यूज़ ब्यूरो • Delhi/NCR

नई दिल्ली : कोरोना महामारी के चलते जहाँ एक तरफ राजधानी दिल्ली में लगातार नर्सिंग स्टाफ़ को नौकरी से निकला जा रहा है वहीँ एक हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है। दिल्ली के सरकारी अस्पतालों के जर्नल वर्ड्स में नर्सिंग स्टाफ़ की भारी कमी देखने को मिल रही है। मामला दरअसल दिल्ली के रोहिणी इलाके में स्थित दिल्ली सरकार के डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर हॉस्पिटल का है।

दिल्ली के आंबेडकर हॉस्पिटल का हाल बयान करती एक वीडियो रविवार 19 जुलाई 2020 को सामने आई, 50 वर्षीय चंदन मिश्रा जो आंबेडकर हॉस्पिटल में निमोनिया का ईलाज करने के लिए भर्ती किये गए थे उन्हें जब इमरजेंसी वार्ड से जर्नल वार्ड में शिफ्ट किया गया तो वे वहां मरीजों की स्थिति देखकर भयभीत हो गए। चंदन के साथ उनकी देख-रेख के लिए आये बसंत झा ने पूरी घटना का एक वीडियो भी बनाया और इस विडियो ने दिल्ली सरकार के दावों की पोल खोल कर रख दी है। 

वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि दिल्ली सरकार के डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर हॉस्पिटल के जर्नल वार्ड में मरीजों की हालत कितनी दयनीय है एक बेड पर तीन-तीन मरीज़ लेटे हुए है और नर्सिंग स्टाफ़ भी उपलब्ध नहीं है जिसके चलते डॉक्टर्स का भी ये कहना है की हम कुछ नहीं कर सकते, चंदन से बातचीत के दौरान हॉस्पिटल के डॉक्टर ने कहा की अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ़ नहीं है यहाँ तक की कंपाउंडर का काम भी डॉक्टर्स को संभालना पड़ रहा है। मरीजों के हालात इतने बुरे हैं की उनके बेड शीट बदलने के लिए भी कोई नहीं है।  

आंबेडकर हॉस्पिटल की जो विडियो सामने आई है उसमे साफ़ देखा जा सकता है एक मरीज़ ने बेड पर शौर्च (Toilet) किया हुआ है और वो वहीँ पर खाना खा रहा है। ऐसे में जो लोग मरीजों की देख-रेख के लिए रुके हुए हैं उनको भी संकर्मण होने का डर सता रहा है।

गौरतलब है की डॉक्टर अपनी जगह ज़रूरत से कही ज़्यादा काम कर रहे हैं लेकिन सरकार सिर्फ-और-सिर्फ ढिंढोरा पीटने का काम कर रही है। एक तरफ हालही में दिल्ली सरकार के जनक पूरी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल से 42 नर्सिंग स्टाफ़ को 15 जुलाई 2020 को बिना नोटिस दिए ही निकाल दिया गया है, वहीँ दूसरी तरफ दिल्ली के डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर हॉस्पिटल के जर्नल वार्ड में नर्सिंग स्टाफ़ तक उपलब्ध नहीं है।