ALL Special Stories Delhi/NCR Current Affairs Political News Bollywood News T.V Serial Updates Breaking News Spiritual अजब गजब
ईरान में हुआ ऐसा बिल पास सुन कर हो जायेंगे हैरान
October 10, 2019 • Rajat Raj Gupta

 

बाप और बेटी का रिश्ता एक ऐसा रिश्ता होता है जिसे काफी ज्यादा पवित्र माना जाता है। लेकिन कुछ देशों में इस रिश्ते को लोग गलत तरह से ज़ाहिर कर रहे है। ईरान वैसे तो महिलाओ के सम्मान के लिए जाना जाता है लेकिन वहाँ की सरकार ने एक ऐसा बिल पास किया है जिसके बारे में सुन कर हर कोई हैरान हो जायेगा की कोई देश ऐसा कानून कैसे पास कर सकता है।
 
ईरान में एक लॉ पास हुआ है जिसमे एक बाप अपनी ही बेटी से शादी कर सकता है। पहली बार इस बात को सुन कर किसी को जल्दी विश्वास नहीं होगा लेकिन ये बात सच है की ईरान में ऐसा एक बिल पास हुआ है।  दरअसल, यह बिल (Bill) ईरान (Iran) की संसद (Parliament) में पास हुआ है, जिसे लेकर हर कोई हैरान है. इस बिल के मुताबिक कोई भी पिता अपनी ही बेटी से शादी कर सकता है. ईरान में अब अपनी ही गोद ली हुई बेटी से पिता शादी कर सकता है, ये नया बिल उसे ये हक देगा. लेकिन ऐसा करने के लिए एक शर्त रखी गई है कि बेटी की उम्र 13 साल से काम नहीं होनी चाहिए यानि की अगर बेटी 13 साल से काम उम्र की होगी तो पिता उस से शादी नहीं कर सकता है लेकिन अगर लड़की की उम्र 13 साल से ज्यादा होगी तो वो आराम से शादी कर सकता है .

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ईरान में यह बिल 22 सितंबर को पास किया गया है. ईरान के कई एक्टिविट्स ने इस बिल का काफी विरोध किया. वहीं, लंदन बेस्ड जस्टीन फॉर ईरान नाम के एक ग्रुप की मानव अधिकार वकील शदी सदर ने द गार्डियन को बताया कि यह बिल पेडोफिलिया यानि की गैरकानूनी बाल शोषण को लीगल कर रहा है. अपनी गोद ली हुई बेटी से शादी करना ईरानी संस्कृति का हिस्सा नही है. साथ ही शदी सदर ने कहा कि 'दुनिया में मौजूद बाकी देशों की ही तरह ईरान में भी अनाचार मौजूद हैं, लेकिन यह बिल ईरान में बच्चों के प्रति क्राइम को और बढ़ाना है. अगर पिता ही अपनी गोद ली हुई नाबालिग बेटी के साथ शादी के साथ सम्बन्ध बनाएगा, तो यह रेप है'. शदी के मुताबिक ईरान के कुछ अधिकारियों का मानना है कि इस बिल को पास करने का असली मकसद हिजाब की परेशानी को सही करना है क्योंकि गोद ली हुई बेटी को पिता के सामने हिजाब पहनना होता है और गोद लिए हुए बेटे के सामने मां को हिजाब पहनना पड़ता है. कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि नया बिल इस्लामी मान्यताओं का विरोध करता है और अभिभावक परिषद यानि की गार्जियन काउंसिल इसे पारित नहीं करेगा.

तो कुल मिला कर ईरान में अब 13 साल की उम्र से ऊपर वाली लड़कियां की उनके पिता की मंजूरी से शादी हो रही है. वहीं लड़कों की शादी 15 साल की उम्र में हो सकती है. गौरतलब है कि ईरान में 13 साल से कम उम्र की लड़कियों की शादी सिर्फ जज की रजामंदी से ही होती है. आंकड़ों की माने तो ईरान में साल 2010 में 10  साल से ले कर 14 साल के बीच के 42 हजार बच्चों की शादी हुई है.वहीँ  ईरान में बच्चों के अधिकारों की रक्षा करने वाली संस्था की हेड शिवा डोलाताबादी ने इस बिल को लेकर आगाह किया है कि इससे बच्चों के प्रति अपराध बढ़ेंगे. ऐसे परिवारों में बच्चे सुरक्षित महसूस नहीं कर पाएंगे.